बस्ती- ठंडी,गर्मी और बरसात में समय पर पहुंचाते थे अखबार ,लकवा मारने से फूटी कौड़ी के हुए मोहताज - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

गुरुवार, 17 सितंबर 2020

बस्ती- ठंडी,गर्मी और बरसात में समय पर पहुंचाते थे अखबार ,लकवा मारने से फूटी कौड़ी के हुए मोहताज

विश्वपति वर्मा

बस्ती-एक दौर था जब लोगों के पास खबरों को देखने और सुनने के लिए अत्याधुनिक सुविधाओं का अकाल था तब लोग पन्नों में देश दुनिया की खबरों को पढ़ने के लिए अखबार के हॉकर का इंतजार करते थे ,हॉकर भी ठंडी, गर्मी , बरसात से लेकर ट्रैफिक के बीच से निकलते हुए जल्द से जल्द पाठकों तक पहुंचने के लिए प्रयत्नशील रहता था ,लेकिन हालात ने एक अखबार विक्रेता को पूरी तरह से तोड़ दिया है जिसका परिणाम है कि आज लकवा मार चुके शरीर की दवा कराने के लिए परिवार के पास फूटी कौड़ी भी नही बचा है।

जनपद के भानपुर तहसील के अंतर्गत जिनवा निवासी रामदास 62 वर्ष कई दशक से अखबार बेंचने का काम करते थे नामी गिरामी अखबार को समय से पाठकों के बीच पहुंचाना और लोगों से मधुर संबंध बनाए रखने की वजह से हर कोई उन्हें सम्मान देता था लेकिन आज हालात ने जो स्थिति पैदा किया है उससे मान- सम्मान ,बात व्यवहार सब अतीत के लम्हों में दफन हो गया।
राम दास को दो वर्ष पूर्व शरीर के दाहिने हिस्से में लकवा मार गया ,कुछ दिन तक तो परिवार के लोगों ने मेहनत से इलाज करवाया लेकिन जब आमदनी के सारे स्रोत बंद हो गए तो दवा कराने के लिए भी परिवार के पास कोई विकल्प नही बचा आज स्थिति यह है कि शानदार कद काठी का इंसान पैसे के अभाव में विस्तर पर तड़पने के लिए मजबूर है।
आयुष्मान भारत के लाभ से वंचित

रामदास भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत योजना के लाभ से भी वंचित है आयुष्मान भारत योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा गरीब परिवार को पांच लाख रुपये तक का इलाज करवाने का बीमा मिलता है लेकिन कार्ड न बन पाने की वजह से परिवार के लोग इस योजना से भी वंचित हो गए हैं।
पेंशन के लिए किया गया आवेदन

जिला विकलांग पुर्नवास केंद्र के मनोवैज्ञानिक राधेश्याम चौधरी ने बताया कि रामदास को पेंशन का लाभ दिलवाने के लिए आवेदन किया गया है जल्द ही उन्हें योजना का लाभ मिलेगा उन्होंने बताया कि आवश्यकता पड़ने पर व्हील चेयर की व्यवस्था भी कराई जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages