कानपुर के बालिका संरक्षण गृह में नाबालिक लड़कियों के साथ हुए शोषण के खिलाफ "आप "का प्रदर्शन - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

बुधवार, 24 जून 2020

कानपुर के बालिका संरक्षण गृह में नाबालिक लड़कियों के साथ हुए शोषण के खिलाफ "आप "का प्रदर्शन


कानपुर के संवासनी  बालिका संरक्षण गृह में नाबालिक लड़कियों" के साथ हुए शोषण को लेकर आम आदमी पार्टी बस्ती द्वारा जिला अध्यक्ष कुलदीप जायसवाल के नेतृत्व में मामले की जांच हाई कोर्ट की निगरानी में कराए जाने की मांग की गई।

 पार्टी की जिला इकाई ने जिलाधिकारी बस्ती के माध्यम से राज्यपाल के नाम से 3 सूत्री ज्ञापन सौंपकर पीड़ित लड़कियों को जल्द से जल्द न्याय दिलाने की मांग करते हुए बस्ती शास्त्री चौक पर विरोध प्रदर्शन भी किया ।
इस अवसर पर जिला अध्यक्ष कुलदीप जायसवाल ने कहा कि" कानपुर के बालिका गृह की 7 बालिकाएं गर्भवती पाई गई हैं और एक को एचआईवी भी है और 57 कोरोना पॉजिटिव की भी मिली है । अधिकारियों की लापरवाही और मिलीभगत के कारण बच्चियों को संरक्षित और सुरक्षित रखने के लिए स्थापित किए गए  बालगृह वर्तमान समय में अनाथ बेसहारा और मजबूर बच्चियों की इज्जत के खिलवाड़ का अड्डा बन चुके हैं। यही नहीं पूरे प्रशासन के नाक के नीचे इस बालगृह की मतलब साफ है की बालिका गृह से संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए सरकार संविधान नियम कायदा और मानवीय मूल्यों का कोई स्थान नहीं है।

 देश और प्रदेश की जनता  देवरिया महिला संरक्षण गृह और मुजफ्फरपुर  (बिहार)  बालिका गृह कांड के दर्द को भूल नहीं पाई थी कि कानपुर कि इस घटना से इस आशंका को बल मिलता है ऐसी घिनौनी घटनाओं की पुनरावृति प्रदेशभर के बालिका गिरि एवं महिला संरक्षण गृह में रही होगी।

 आम आदमी पार्टी  बस्ती अपने तीन सूत्री ज्ञापन में राजपाल से यह मांग की है कि..
1- पूरे मामले की मामले की न्यायिक जांच हाई कोर्ट की निगरानी में गठित SIT के द्वारा की जाए।
2- इस घटना के दोषियों को कठोर दंड दिए जाएं ताकि ऐसी घिनौनी कृत्य की पुनरावृत्ति रोकी जा सके।
3- पीड़िताओ के बेहतर इलाज की व्यवस्था की जाए जिससे  उनके भविष्य को सुरक्षित एवं संरक्षित किया जा सके।
  आम आदमी पार्टी उपरोक्त बिंदुओं पर मानवीयता और संवैधानिक मूल्यों की रक्षा करने के लिए पीड़ित बालिकाओं और महिलाओं की सुरक्षा स्वास्थ्य और बेहतर भविष्य के लिए प्रभारी आदेश दिए जाने की मांग करती है जिससे प्रदेश भर के बालिका गृह एवं महिला संरक्षण गृह की स्थिति में सुधार लाया जा सके।

 इस अवसर पर निम्न लोग उपस्थित रहे : शैलेंद्र गुप्ता, राहुल कुमार , बीरेन्द्र गुप्ता ,कंचन भारती ,डॉ. जहांगीर आलम ,उमेश, राजन चौधरी मो. शरीफ उर्फ सद्दाम, शहाबुद्दीन, राहुल चमार, कमरुल हसन ,आरिफ, इमरान, छोटू, उर्मिला देवी ,सुभावती ,माया देवी, शांति, रुखसाना सुमित्रा, विकास गुप्ता आदि लोग उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages