फोन पर बात करने के कारण सगे भाई ने किया था प्रमिला की हत्या ,पुलिस ने किया खुलासा - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

रविवार, 14 जून 2020

फोन पर बात करने के कारण सगे भाई ने किया था प्रमिला की हत्या ,पुलिस ने किया खुलासा

विश्वपति वर्मा-

लॉक डाउन की वजह से काफी दिनों बाद पहली बार तीनों भाई अपने घर पर एकत्रित हुए थे घर में सब कुछ सामान्य चल रहा था मां लाली देवी का पैर फैक्चर होने की वजह से सब उनकी सेवा में लगे हुए थे. रात्रि 9 बजे सब खाना खाने के बाद अपने अपने कमरे में सोने के लिए चले गए .उसी रात करीब 11 बज रहा था इसी बीच भाई श्रीनिवास ने अपनी बहन को किसी से फोन पर बात करते हुए देख लिया जिससे उसका पारा चढ़ गया और वह आवेश में आ कर अपनी छोटी बहन की गला दबाकर उसे मौत की नींद सुला दिया .यह कहानी है वाल्टरगंज थाना क्षेत्र के चौरा गांव की प्रमिला हत्याकांड का।

 प्रमिला 35 की शादी भी 2 बार हुई थी लेकिन एक-एक करके दोनों जगहों से उसका रिश्ता खराब हो गया ,दूसरी बार शादी होने पर उसने एक लड़के को जन्म दिया जो इस वक्त 5 वर्ष का है .वह अपने बच्चे को लेकर अपने मायके में मां के पास ही रहने लगी थी।

         प्रमिला की माँ और उसका भाई चारपाई पर

3 जून 2020 की सुबह 5 बजे थे इसी बीच गांव के लोगों ने गांव से बाहर खेत मे 1 लड़की का शव देखा यह बात आग की तरह चारो ओर फैल गई कि गांव के बाहर एक लड़की का शव पड़ा है यह जानकारी पाते ही गांव के शिवशरण मौके पर पहुंचे और उन्होंने अपनी बेटी प्रमिला के रूप में उसकी पहचान किया .इसी बीच किसी ने फोन पर पुलिस को घटना की सूचना दिया मौके पर पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ,क्षेत्राधिकारी गिरीश कुमार सिंह और थाना अध्यक्ष डीoकेo सरोज फोरेंसिक टीम के साथ घटना स्थल पर पहुंचे.
       घटना स्थल पर पुुुलिस और प्रमिला के पिता

फोरेंसिक टीम ने लाश को अपने कब्जे में लेकर उसकी जांच पड़ताल किया उसके बाद पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया पीएम रिपोर्ट आने के बाद इस बात की पुष्टि हो गया कि प्रमिला की मौत दम घुटने से हुई है यानी कि गला दबाकर उसकी हत्या की गई है.

जिस अवस्था में लाश मिला था उसे देखकर तत्काल किसी को दोषी बताना संभव नही था क्योंकि प्रमिला का चाल चलन रंगीन मिजाज का था इसलिए शक इस बात पर भी था कि कहीं उसकी हत्या उसके चाहने वाले लोगों द्वारा न की गई हो इसलिए पुलिस बारीकी से मामले का तहकीकात कर रही थी ताकि असली कातिल को पकड़ा जा सके.

घटना के 10 दिन बाद 13 तारीख को पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि प्रमिला की हत्या उसके भाई श्रीनिवास ने किया था उसके बाद लाश को ठिकाने लगाने में उसके एक और भाई कनिकराम और दो पड़ोसी पृथ्वीराज और रोहित ने मदद किया था। पुलिस ने बताया कि सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages