''मैं जोरु का गुलाम बनकर रहूंगा'' लिखकर देने पर टूटने से बची युवक की शादी - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

मंगलवार, 26 मई 2020

''मैं जोरु का गुलाम बनकर रहूंगा'' लिखकर देने पर टूटने से बची युवक की शादी

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित एक कुटुम्ब न्यायालय में सगाई के बाद मंगेतर के मजाक से नाराज युवती के शादी से इनकार करने के एक मामले में सोमवार को उस वक्त दिलचस्प मोड़ आया जब युवक के 108 बार “मैं जोरू का गुलाम बनकर रहूंगा” लिख कर देने के बाद युवती शादी के लिये राजी हुई. कुटुम्ब न्यायालय की काउंसलर सरिता राजानी ने सोमवार को ‘पीटीआई-भाषा' को बताया कि मुम्बई में नौकरी करने वाले भोपाल के एक युवक और युवती की यहां सगाई हुई. सगाई के बाद मंगेतर ने अपने होने वाले पति को मजाक में एक वीडियो भेजा. वीडियो में लॉकडाउन में पति बर्तन साफ कर रहा है और पत्नी की इशारों पर नाच रहा है। वीडियो के साथ ही मंगेतर ने लिखा कि शादी के बाद तुम पर भी यही लागू होगा. 
राजानी ने बताया कि वीडियो देख युवक ने जवाब दिया, ‘‘ मैं इस श्रेणी में नहीं हूं. ऐसे लोगों की अलग श्रेणी होती है.'' उन्होंने बताया कि यह जवाब युवती को नागवार गुजरा और पहले दोनों के बीच अनबन हुई और फिर लड़की ने दो मई 2020 को सगाई तोड़ दी जबकि दोनों की शादी 20 मई को होनी थी. उन्होंने बताया कि परिवार के लोग इस पर हैरान हुए और लड़की को मनाने की कोशिशें शुरू हुईं लेकिन वह जिद पर अड़ी रही। इसके बाद लड़के के परिजन कुटुम्ब न्यायालय पहुंचे. वहां चार दिन तक युवव और युवती दोनों की काउंसलिंग की गई और युवती उसी युवक से शादी करने के लिए मान गयी. 

राजानी ने बताया, ‘‘हमें दोनों को समझाने में चार दिन लगे. लड़के ने कहा कि छोटी सी बात पर उसकी मंगेतर इतना बुरा मान जाएगी, उसे नहीं पता था. युवक ने न सिर्फ सबसे सामने युवती से माफी मांगी बल्कि 108 बार लिखकर दिया कि ‘मैं जोरु का गुलाम बनकर रहूंगा.' युवक ने मंगेतर को यह भी लिखकर दिया कि मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं.'' उन्होंने बताया कि इसके बाद दोनों की बीच बात बन गई और अब दोनों की 10 जून को शादी तय हो गयी है। राजानी ने बताया कि लड़का और लड़की दोनों मुम्बई में एक निजी कंपनी में एक्जीक्यूटिव के पद पर कार्यरत हैं. 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages