लखनऊ-बदलाव संस्था कर रही गोमती नदी को साफ हर रविवार को होता है श्रमदान - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

रविवार, 17 फ़रवरी 2019

लखनऊ-बदलाव संस्था कर रही गोमती नदी को साफ हर रविवार को होता है श्रमदान


बदलाव संस्था द्वारा संचालित भिक्षाव्रत्ती से जुड़े साथियों को पुनर्वास की सुविधाएँ उपलब्ध कराने हेतु पुनर्वास केंद्र  “हैप्पी होम” (देखभाल, संरक्षण एव पुनर्वास), लक्ष्मण मेला मैदान के कार्यकर्ताओं एव सेवार्थियों द्वारा श्रम दान “प्रत्येक रविवार सामुदायिक कार्य” के अंतर्गत आज द्वितीय रविवार को पर्यावण संरक्षण हेतु लक्ष्मण मेला मैदान छठ पूजा घाट पर गोमती नदी की सफाई की गयी,गोमती नदी की सफाई का कार्यक्रम सुबह 9 बजे से शुरू होकर 12 बजे तक चला।

 गोमती नदी से लगभग 15 कुंतल जल कुम्भी,प्लास्टिक, कांच, कचड़ा पूजन सामग्री आदि निकाला गया।इस अवसर पर संस्था के संस्थापक शरद पटेल ने साथियों को संबोधित करते हुए कहा कि बदलाव संस्था का लक्ष्य  भिक्षावृत्त्ति से जुड़े लोगों को पुनर्वास की सुविधाएं उपलब्ध कराकर केवल स्वावलंबी बनाने तक सीमित नही है, बल्कि जिन निजी समस्याओं से  साथी जूझ रहे उसके अलावा समाज मे और भी क्या क्या समस्याएं, बुराइयाँ हैं उनसे रूबरू कराना, परिचर्चा कराना तथा सामाजिक जिम्मेदारी के निर्वाहन की सीख देते हुए एक सक्रिय नागरिक बनाना है। जिससे हासिये के लोग स्वावलंबी होकर सम्मानजनक व गरिमापूर्ण जीवन जीने के साथ सामाजिक दायित्यों का भी निर्वाहन करते हुए समाज के विकास में भी योगदान दें। आज द्वतीय रविवार को नशा तथा अशिक्षा की समस्या को साथियों ने चिन्हाकित किया , प्रथम रविवार बसंत पंचमी के दिन पर्यावरण संरक्षण तथा भिक्षावृत्त्ति की समस्या का चिन्हांकन किया गया था इसी प्रकार होलिका दहन से पहले प्रत्येक रविवार को दो दो समस्याओं का चिन्हांकन किया जाएगा तथा होलिका दहन के दिन इन होलिका रूपी चिन्हाकित 12 समस्याओ बुराइयों का सांकेतिक दहन किया जाएगा तथा इन 12 समस्याओं के उन्मूलन हेतु पूरे वर्ष एक - एक माह का श्रम दान, जागरूकता अभियान तथा अन्य गतिविधियों के माध्यम से प्रयास किया जाएगा।जिससे कि एक सशक्त समाज का निर्माण किया जा सके ।तथा शरद पटेल ने बताया कि बदलाव संस्था के कार्यकर्ता व सेवार्थी अपने अंदर छुपी एक बुराई कमजोरी को भी दूर करने का प्रत्येक रविवार को संकल्प ले रहे है जिससे कार्यकर्ता व सेवार्थी भी अपने अंदर छुपी इन 6 होलिका रूपी बुराइयों का भी दहन करेंगे तथा समाज के लोगों से भी आह्वाहन किया गया कि प्रत्येक रविवार को  वह भी अपने अन्दर छुपी एक बुराई व सामाजिक बुराई को दूर करने का संकल्प ले एवं होलिका दहन के दिन होलिका रूपी इन सभी बुराइयों को दहन कर, खुद को मजबूत व समाज को सशक्त बनाने में अपना योगदान देते हुए प्रतिभाग करें |

इस मौके पर बदलाव संस्था के संथापक शरद पटेल, राम जी वर्मा,महेंद्र प्रताप, मनोज कुमार, दिवाकर सिंह,श्रवण सिंह,नरेंद्र देव यादव, ओम प्रकाश,शिव रतन,प्रकाश, किशन, राजेश, लाल जी, सतीश पाल उर्फ राजू,रोहित सक्सेना,संजय कुमार वर्मा आदि लोग मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages