झूठ के बुनियाद पर खड़े प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साबरमती आश्रम से देशवासियों बोले थे झूठ - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

शनिवार, 3 अक्तूबर 2020

झूठ के बुनियाद पर खड़े प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साबरमती आश्रम से देशवासियों बोले थे झूठ

विश्वपति वर्मा(सौरभ)

वैसे भी आजकल झूठ बोलने का ट्रेंड बहुत ज्यादा चल रहा है और सबसे ज्यादा झूठ वर्तमान सत्ताधारी पार्टी के नेताओं और प्रवक्ताओं द्वारा बोला जा रहा है यह सब जानते हुए भी देश के लोग ना तो सवाल कर पा रहे हैं और ना ही कुछ बोल पा रहे हैं क्योंकि जब देश का मुखिया ही झूठ बोलने में मस्त है तो मुखिया से जुड़े किस बात की जवाबदेही ली जाए ।
आज से 1 साल पहले साबरमती आश्रम से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा था कि पूरा देश खुले से शौच मुक्त हो चुका है यानी अब देश का कोई भी नागरिक खुले में शौच नहीं कर रहा है , इस सम्बोधन के बाद बड़ी आलोचना हुई थी पीएम मोदी की लेकिन देश के पीएम हैं तो आलोचना और प्रशंसा यूं ही दफन हो जाता है, मैं ज्यादा दूर जाने के लिए नहीं कहूंगा अपने नजदीक के आसपास के इलाकों में आप स्वयं घूम लीजिए और 100 घरों का सर्वेक्षण कीजिए और देखिए कि कितने घरों में शौचालय बना हुआ है ,कितने का प्रयोग हो रहा है और कितना ध्वस्त हो गया है ।

इससे भी ज्यादा कुछ देखना हो तो नजदीकी स्थान के बारे में मैं आपसे बताना चाहता हूं बस्ती जनपद के भानपुर तहसील के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नंदकिशोर कलाल जिस भानपुर तहसील के कार्यालय में बैठते हैं वहां से डेढ़ सौ मीटर दूरी पर राजकीय राजमार्ग पर शाम को 7:00 बजे के बाद से क्षेत्र के दर्जनों महिलाएं डिब्बा लेकर सड़क पर शौच करते हुए मिल जाएंगी, थोड़ा सा और आगे बढ़े सोनहा थाने से ढाई किलोमीटर दूर पड़री गांव के आसपास की सड़कों पर सैकड़ों की संख्या में महिलाएं ,बच्चे बच्चियां ,बुजुर्ग एवं पुरुष सड़कों पर डिब्बा लेकर बैठे हुए मिल जाएंगे 

ऐसे ही गांव से निकलने वाली हर एक सड़कों का हाल है जहां पर शौच के लिए लोग सड़कों पर बैठे रहते हैं आखिर सवाल इस बात का है कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बात का संबोधन किया था कि पूरा देश खुले में शौच मुक्त हो गया है तो आखिर कौन से रिपोर्ट के आधार पर उन्होंने यह बात कही थी।
सच तो यह है कि पीएम मोदी को कुछ नहीं पता है कि देश में क्या हो रहा है, देश में क्या चल रहा है ,देश की स्थिति क्या है, देश की वर्तमान दिशा और दशा क्या है, सरकारी योजनाओं का हाल क्या है ,यहां के गरीबों का हाल क्या है, यहां के बेरोजगारों का हाल क्या है, सरकारी कार्यालयों का हाल क्या है, यहां के किसानों का हाल क्या है, यह सब कुछ पीएम मोदी को नहीं पता है उनको पता यह है कि मोर कब आएगा और  वह कब नाचेगा और मेरा फोटो सेशन कब होगा ।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages