नजरिया-बर्बादी, तबाही और भ्रष्टाचार की तरफ दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा योगी सरकार का कार्यकाल - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

सोमवार, 31 अगस्त 2020

नजरिया-बर्बादी, तबाही और भ्रष्टाचार की तरफ दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा योगी सरकार का कार्यकाल

विश्वपति वर्मा-

मंच और मीडिया के सामने योगी सरकार भले ही प्रदेश में अपनी उपलब्धियों पर पीठ थपथपा रही है लेकिन जनता त्रस्त और परेशान हो चुकी है ,प्रदेश में आये दिन हत्या-बलात्कार हो रहे हैं ,किसान बदलहाल है. युवा बेरोजगार हैं, गड्ढायुक्त सड़के हैं, व्यापारियों का बुरा हाल है, सिसकतीं कन्याएं हैं ,बीमारों के लिए बने अस्पताल खुद बीमार हैं ,सरकारी योजनाओं में जमकर भ्रष्टाचार है , खाद, बीज ,दाल ,राशन में कालाबाजारी है उसके बाद भी झूठ की बुनियाद पर टिकी भारतीय जनता पार्टी की सरकार प्रदेश में आत्म प्रशंसा कर रही है।

      विश्वपति वर्मा ,लेखक ,पत्रकार और विचारक

वैसे हत्या और बलात्कार तो हर सरकार में होते रहे हैं लेकिन वर्तमान समय में प्रदेश का वातावरण इतना ज्यादा खराब हो चुका है कि आये दिन  हत्या ,रंगदारी और बलात्कार की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं।

योगी सरकार युवाओं से किए गये अपने वादे को पूरा करने में पूरी तरीके से अक्षम साबित रही, सरकारी नौकरी मिल नही रही है, प्राइवेट सेक्टर से लोग निकाले जा रहे हैं ,कुटीर उद्योग की स्थापना केवल कागजो में हो रही है जिसका परिणाम है कि योगी कार्यकाल में बेरोजगारी 60 लाख से ऊपर चली गई. 

किसानों की आत्महत्या दर देश में सर्वाधिक है.कड़ी मेहनत करके अपनी फसल को पैदा करने वाले किसान खाद के लिए दर दर भटक रहे हैं लेकिन प्रदेश सरकार यूरिया उपलब्ध कराने में पूरी तरह से फेल है।

 यह सरकार जनता की गाढ़ी कमाई का अरबों रूपये खर्च करके बड़े-बड़े आयोजन और भाषण करती है, लेकिन जनता से किया गया अपना वादा पूरा करने में पूरी तरह असफल रही है. 

भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस नीति अपनाने की बात करने वाली सरकार में प्रदेश का कोई भी सरकारी कार्यालय बचा नही है जहां घूसखोरी, कालाबाजारी और अनियमितिता न हो रहा हो ,भ्रष्टाचार का आलम यह है कि स्कूल ड्रेस ,सरकारी टेंडर ,सहकारी समितियों,राशन और मदिरा की दुकानों और विकास भवन के कार्यालय से विकास खंड के निचली इकाई तक जमकर रिश्वतखोरी और नकली निर्माण हो रहे हैं लेकिन लाख शिकायत के बाद भी सरकार को कोई चिंता नही हो रही है।

इससे साफ होता है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार बड़े बड़े दावे और वादों के जरिये जनता के बीच बने रहना चाहती है और विकास के पैसों में हिस्सेदारी कर अपनी पार्टी और नेताओं को मजबूत बनाने में लगी रहती है जिसका नतीजा है कि प्रदेश की 22 करोड़ आबादी सरकार की नाकामियों के चलते बर्बादी ,तबाही और भ्रष्टाचार का दंश झेल रही है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages