किस काम का सीएम योगी के आदेशों वाली छुट्टी ,हमारी पड़ताल में फेल हुआ छुट्टी का उद्देश्य - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

रविवार, 15 मार्च 2020

किस काम का सीएम योगी के आदेशों वाली छुट्टी ,हमारी पड़ताल में फेल हुआ छुट्टी का उद्देश्य

विश्वपति वर्मा .

विश्व भर में फैल रहे कोरोना वायरस को देखते हुए अलग अलग देशों और प्रदेश सरकारों द्वारा वायरस पर नियंत्रण पाने के लिए युद्ध स्तर पर सावधानी बरती जा रही है इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी स्कूलों को 22 मार्च तक बंद रखने का आदेश जारी किया।

यह जानने के लिए हम गांव में निकले कि क्या उन बच्चों को सही बात की जानकारी है जिन्हें स्कूल से छुट्टी दी गई है ,और स्कूल से छुट्टी दी गई है तो क्यों दी गई है । हम सोनहा थाने के बगल के गांव में पहुंचे और परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले कुछ बच्चों से मिले हमने उनसे पूछा स्कूल में छुट्टी कर दी गई है आपको पता है कि छुट्टी क्यों की गई है तो 7 बच्चों की पूरी संख्या ने बताया कि कोरोना वायरस फैल गया है इसी लिए छुट्टी हो गई है ,हमने बच्चों को सही बात की जानकारी दिया उसके बाद हम पहुंचे कोरिया डीह जहां सड़क के किनारे कुछ बच्चे खेल रहे थे हमने वहां भी बच्चों से वही सवाल किया और वहां भी जवाब वही मिला कि कोरोना वायरस फैल गया है  ,उसके बाद हम महुआडावर पहुंचे और जायत्री देवी इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ने वाले दो बच्चियों से हमने पूछा कि स्कूल में छुट्टी क्यों हो गई तो उन बच्चियों ने भी बताया कि कोरोना वायरस फैल गया है इसी लिए छुट्टी कर दी गई।

इसी प्रकार हमने शेखापुर,सेखुई और करीमनगर में भी कुछ बच्चों से वही सवाल किया कि स्कूल में छुट्टी क्यों है तो हर जगह केवल एक ही जवाब मिला कि कोरोना वायरस फैल गया है।

अब सवाल पैदा होता है जिम्मदारों पर कि वें आखिर कैसे जागरूकता लाएंगे ?क्या सारे बच्चे टीवी और मोबाइल पर यह जान रहे हैं कि यह छुट्टी बचाव के दृष्टि से किया गया है?शायद नही ।

इस लिए यह जरूरी था कि सरकारी आदेश के बाद अगले दिन स्कूल में बच्चों को बुलाया जाता और उन्हें यह बताया जाता कि छुट्टी कोरोना वायरस फैलने की वजह से नही हो रही है कोरोना वायरस की चपेट में कोई न आये इस लिए यह छुट्टी की जा रही है ,बच्चों को साफ -सफाई के साथ हंसते, खेलते, कूदते ,छींकते वक्त कौन -कौन सी सावधानी बरतनी है इस बात की जानकारी दी जानी चाहिए थी।लेकिन अंधेर नगरी चौपट राजा वाली कहानी इस देश मे चल रही है तो किसी को किसी बात का परवाह क्यों हो  .इस प्रदेश के 98 फीसदी बच्चों को नही पता है कि यह छुट्टी क्यों की गई है बेहतर होता कि एक लाइन में ही बता दिया गया होता कि संक्रमण से बचने के यह छुट्टी की गई है ।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages