हैप्पीनेस क्लास' देखने के दौरान केजरीवाल-सिसोदिया की गैरमौजूदगी को लेकर अमेरिका का आया बयान - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

सोमवार, 24 फ़रवरी 2020

हैप्पीनेस क्लास' देखने के दौरान केजरीवाल-सिसोदिया की गैरमौजूदगी को लेकर अमेरिका का आया बयान


अमेरिकी दूतावास ने रविवार को कहा कि उसे दिल्ली के सरकारी स्कूल में अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप की यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की मौजूदगी को लेकर कोई आपत्ति नहीं है. 

लेकिन दूतावास ने इस बात को 'समझने को लेकर भी सराहना की कि यह कोई राजनीतिक समारोह नहीं है.' दिल्ली सरकार के सूत्रों ने शनिवार को कहा था कि मेलानिया ट्रंप के मंगलवार को दिल्ली के सरकारी स्कूल के दौरे के समय केजरीवाल और सिसोदिया मौजूद नहीं रहेंगे, क्योंकि कार्यक्रम के लिए अतिथि सूची से उनके नाम हटा दिए गए हैं. अमेरिकी दूतावास में एक प्रवक्ता ने इस बारे में मीडिया द्वारा सवाल पूछे जाने पर कहा, 'अमेरिकी दूतावास को मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की मौजूदगी से कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन हम इस बात को समझने के लिए उनकी सराहना करते हैं कि यह कोई राजनीतिक समारोह नहीं है. यह सुनिश्चित करना सबसे अच्छा है कि शिक्षा, स्कूल एवं छात्रों पर ध्यान केंद्रित किया जाए.'


अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी मेलानिया के 'हैप्पीनेस क्लास' देखने के लिए स्कूल जाने और वहां छात्रों से संवाद करने का कार्यक्रम है. दिल्ली सरकार के सूत्रों ने बताया कि अमेरिकी दूतावास ने शनिवार सुबह शहर के प्रशासन को अवगत कराया था कि आयोजन के लिए आमंत्रित लोगों की सूची में केजरीवाल और सिसोदिया का नाम नहीं है. पहचान जाहिर नहीं करने का अनुरोध करते हुए दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने बताया, 'आयोजन के लिए आमंत्रित लोगों की सूची से केजरीवाल और सिसोदिया के नाम हटा दिए गए हैं. हमें नहीं पता कि प्रथम महिला जब हमारे स्कूल में आयेंगी तो कौन उनका स्वागत करेगा और कौन उन्हें अवगत कराएगा.'

इससे पहले, दिन में उपमुख्यमंत्री ने संवाददाताओं से कहा कि दिल्ली सरकार को मेलानिया के एक सरकारी स्कूल के दौरे के लिए अनुरोध मिला था. उन्होंने कहा, 'अगर वह (सरकारी स्कूल) आना चाहती हैं तो उनका स्वागत है.' आयोजन से दोनों नेताओं के नाम हटाए जाने पर क्षोभ प्रकट करते हुए आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि यह एक प्रोटोकॉल और 'परंपरा' है कि आयोजन में कोई भी विदेशी विशिष्ट अतिथि आता है तो राज्यों के नेता उपस्थित रहते हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के इशारे पर अतिथि सूची से केजरीवाल और सिसोदिया के नाम हटाए गए.


भारद्वाज ने दावा किया, 'भाजपा दावा कर रही है कि उसने (केंद्र) अमेरिकी दूतावास से केजरीवाल और सिसोदिया का नाम अतिथि सूची से हटाने के लिए नहीं कहा. बयान असल में संकेत है कि कुछ गड़बड़ है.' अतिथि सूची में केजरीवाल का नाम नहीं होने पर भाजपा प्रवक्ता सांबित पात्रा ने कहा कि राष्ट्रहित वाले मुद्दों पर 'स्तरहीन या ओछी' राजनीति नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर हम एक दूसरे की खिंचाई करते रहेंगे तो भारत का नाम खराब होगा. मोदी सरकार अमेरिका को नहीं बताती कि किसे वो आमंत्रित करें और किसे नहीं.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages