कैबिनेट मीटिंग पहली बार लखनऊ से बाहर, 29 को कुंभ स्नान के बाद योगी आदित्यनाथ की टीम करेगी बैठक* - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

सोमवार, 21 जनवरी 2019

कैबिनेट मीटिंग पहली बार लखनऊ से बाहर, 29 को कुंभ स्नान के बाद योगी आदित्यनाथ की टीम करेगी बैठक*

*कैबिनेट मीटिंग पहली बार लखनऊ से बाहर, 29 को कुंभ स्नान के बाद योगी आदित्यनाथ की टीम करेगी बैठक* 




योगी आदित्यनाथ सरकार प्रयागराज में भव्य कुंभ के आयोजन के साथ एक और इतिहास बनाने जा रही है। यह पहला मौका होगा जब उत्तर प्रदेश कैबिनेट की बैठक संगम तट पर बसे टेंट सिटी में होगी।...


 उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार नया प्रयोग करने में हिचक नहीं रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ की टीम अब लखनऊ से बाहर कैबिनेट की बैठक करेगी। यह बैठक 29 जनवरी को कुंभ नगरी प्रयागराज में होगी। बैठक से पहले कैबिनेट के सभी मंत्री संगम में स्नान भी करेंगे।

योगी आदित्यनाथ सरकार प्रयागराज में भव्य कुंभ के आयोजन के साथ एक और इतिहास बनाने जा रही है। यह पहला मौका होगा जब उत्तर प्रदेश कैबिनेट की बैठक संगम तट पर बसे टेंट सिटी में होगी। योगी आदित्यनाथ सरकार बनने के साथ ही यह बात उठी थी कि प्रयागराज में भी कैबिनेट की बैठकें होंगी लेकिन, ऐसा हो नहीं सका। प्रयागराज कुंभ के आकर्षण ने इस बहुप्रतीक्षित बैठक की राह आसान की है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने तय किया है कि कुंभ में कैबिनेट की अगली बैठक होगी। यह पहला मौका होगा जब कैबिनेट की बैठक राजधानी से बाहर होगी।

भगवान में आस्था रखने वालों के लिए सरकार कैबिनेट की बैठक वहां करेगी। इस बैठक से पूरी दुनिया में एक धार्मिक संदेश जाएगा। उन्होंने कहा कि कैबिनेट की बैठक कुंभ में किए जाने को लेकर फैसला पिछले कैबिनेट बैठक में ही ले लिया गया था। 29 जनवरी को गंगा, यमुना व अदृश्य सरस्वती संगम के पावन तट पर होने वाली यह कैबिनेट की बैठक वास्तव में इतिहास दर्ज करेगी। लगभग चार दर्जन मंत्रियों का भारी भरकम जमावड़ा, अधिकारियों की फौज और उनकी सुरक्षा में लगे सुरक्षाबलों की टीम संगम तट पर वे कौन से निर्णय लेगी जो इतिहास में दर्ज हो जाएंगे। इस बैठक में धर्म और कुंभ से जुड़े प्रस्तावों पर मुहर लग सकती है।

यह 56 वर्ष बाद पहली बार होगा जब कैबिनेट की बैठक लखनऊ से बाहर होगी। इससे पहले 1962 में नैनीताल में कैबिनेट बैठक आयोजित की गई थी। इससे पहले किसी भी सरकार ने आज तक कुंभ में कैबिनेट बैठक का आयोजन नहीं किया है। बैठक के पहले योगी कैबिनेट के मंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ संगम तट पर स्नान भी करेंगे। यहां स्नान करने के बाद वे सभी कैबिनेट की बैठक में शामिल होंगे।

कैबिनेट की बैठक अमूमन लखनऊ में मंगलवार को होती है। मंगलवार को मकर संक्रांति पर्व होने और मुख्यमंत्री व गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ के गोरखपुर में होने की वजह से पिछली कैबिनेट की बैठक स्थगित कर दी गई थी। यह बैठक शुक्रवार को संपन्न हुई। आने वाले मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी में प्रवासी भारतीय दिवस में आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री समेत कई मंत्री उस दिन वाराणसी में मौजूद रहेंगे। ऐसे में अगले मंगलवार को भी कैबिनेट की बैठक नहीं होगी। कुंभ के टेंट सिटी में कैबिनेट की अगली बैठक किये जाने की चर्चा हुई। उसके महत्व पर बल दिया गया। कुंभ में कैबिनेट की बैठक में लिये गये फैसलों पर पूरे देश-दुनिया की नजर रहेगी। संकेत मिल रहे हैं कि कुंभ में होने वाली बैठक में जनहित के महत्वपूर्ण मामलों से लेकर आस्था, धर्म और संस्कृति से जुड़े प्रस्ताव आ सकते हैं। सरकार ऐसे महत्वपूर्ण प्रस्ताव तैयार कर रही है, जिसका प्रभाव दूरगामी हो और लंबे समय तक चर्चा बनी रहे। संकेत मिल रहे हैं कि 29 को प्रयागराज के कुंभ में कैबिनेट की बैठक हो सकती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages