यूपी सरकार के कार्यक्रमों का बहिष्कार करेंगी अनुप्रिया पटेल - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

गुरुवार, 27 दिसंबर 2018

यूपी सरकार के कार्यक्रमों का बहिष्कार करेंगी अनुप्रिया पटेल


भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी दलों के उससे अलग होने के सिलसिले में उसकी एक और सहयोगी पार्टी अपना दल (एस) की नाराजगी जाहिर हो गई है अपना दल की तरफ़ से कहा गया है कि जबतक यूपी का बीजेपी नेतृत्व सहयोगी पार्टियों के साथ सम्मानजनक व्यवहार नहीं करता तबतक अपना दल के कोटे से केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल यूपी सरकार के किसी सरकारी कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगी.

तीन राज्यों में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को मिली हार के बाद से ही बीजेपी अपने ही सहयोगी पार्टी के तेवर से परेशान हो उठी है. बीजेपी को 2019 के चुनाव में राजनीति विसात बिछने से पहले ही अपने सहयोगी दलों द्वारा ब्लेकमेलिंग का सामना करना पड़ रहा है. एनडीए में शामिल यूपी की अपना दल (एस) की नाराज़गी बीजेपी से कम होने का नाम नहीं ले रही है. अपना दल की तरफ़ से कहा गया है कि जबतक यूपी का बीजेपी नेतृत्व सहयोगी पार्टियों के साथ सम्मानजनक व्यवहार नहीं करता तबतक अपना दल के कोटे से केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल यूपी सरकार के किसी सरकारी कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगी. अपना दल की तरफ़ से आरोप लगाया गया है कि मिर्जापुर में बीजेपी के नेता केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के कार्यक्रमों से दूर रहते हैं. इसलिए जब तक बीजेपी के केंद्रीय नेता प्रदेश के मामले में दखल नहीं देते, तब तक अनुप्रिया पटेल भी सभी सरकारी कार्यक्रमों का बहिष्कार करेंगी.2019 लोकसभा चुनाव के पहले एनडीए गठबंधन में शामिल अपना दल (एस) के बगावती सुर बुलंद कर दिए हैं. अपना दल (एस) के राष्टीय अध्यक्ष आशीष पटेल ने बीजेपी के प्रदेश नेतृत्व पर अनदेखी का आरोप लगाया. आशीष पटेल ने कहा कि अपना दल (एस) पार्टी और केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने प्रदेश सरकार के किसी भी कार्यक्रम में नहीं जाने का निर्णय लिया है.आशीष पटेल ने कहा, "मैं एक बात आपके सामने स्पष्ट करना चाहता हूं कि कल से मीडिया चैनल जो एक ही बात चला रहे हैं कि हम एनडीए से छोड़ रहे हैं, तो बताना चाहता हूं कि हमारे एनडीए छोड़ने का कोई भी प्रश्न ही नहीं उठता. हमने 2014 में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चुनाव भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर लड़ा था. हम चाहते हैं कि 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पुनः प्रधानमंत्री बने. लेकिन उसके लिए भारतीय जनता पार्टी का उत्तर प्रदेश का जो नेतृत्व है उसे अपने व्यवहार को बदलना होगा. सहयोगी दलों के साथ सम्मान पूर्वक रवैया अपनाना पड़ेगा."अपना दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष पटेल ने कहा कि उत्तर प्रदेश के भाजपा नेतृत्व द्वारा सहयोगियों के साथ राज्य में सम्मानजनक व्यवहार करना चाहिए था, वह नहीं किया जा रहा है, जब तक इस समस्या का हल नहीं हो जाता तब तक यूपी सरकार के किसी भी कार्यक्रम में पार्टी का कोई भी सदस्य शामिल नहीं होगा. ओमप्रकाश राजभर पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए आशीष पटेल ने कहा कि देखिए, राजभर जी बड़े नेता हैं. उन्हें टिप्पणी करने का पूरा अधिकार है, वह करते रहें. हम उनकी टिप्पणी पर कोई कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages