आइये जानते हैं भाजपा की सरकार को क्यों कहते हैं NDA - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

मंगलवार, 7 मई 2019

आइये जानते हैं भाजपा की सरकार को क्यों कहते हैं NDA

विश्वपति वर्मा_

                           फोटो -गूगल विकिपीडिया
कई बार आपने राजीनतिक क्षेत्र में भाजपा की सरकार में NDA और कांग्रेस की सरकार में UPA शब्दों के बारे में सुना होगा ।
जैसा कि आपने सुना होगा NDA के साथ आये तीन और दल ।
राजराष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन  या हिंदी में राजग वंही अंग्रेजी में National Democratic Alliance या  NDA यह सब एक ही शब्द को प्रदर्शित करने वाले नाम हैं।
यह भारत के कई राजनीतिक दलों द्वारा बनाया गया राजनीतिक संगठन है जिसे गठबंधन के नाम से जाना जाता है ,इस राजनीति संगठन का नेतृत्व भारतीय जनता पार्टी करती गई जो देश के शीर्ष दो दलों में से ही एक पार्टी है।
1998 में इसका गठन हुआ था जब इसके गठन की घोषणा हुई थी तब देश भर में इसके 13 सदस्य थे । लेकिन शुरुआती दौर के पहले एक वर्ष तक इस गठबंधन के सदस्यों में मतभेद रहा जिसके चलते "आल इंडिया अन्ना द्रविण मुनेत्र कड़गम" ने अपना समर्थन वापस ले लिया. उसके बाद 1999 में नए सिरे से इसके सदस्यों का चुनाव किया गया जिसका परिणाम भी सार्थक रहा । 1999 में हुए लोकसभा चुनाव में इस गठबंधन को NDA के रूप में  2004 तक सरकार चलाने का मौका मिला।
NDA के नेता अटल बिहारी बाजपेयी ने प्रधानमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल को बेहतर ढंग से पूरा किया  ,लेकिन 2004 के आम चुनाव में इसके विपक्षी दल कांग्रेस ने UPA के सहयोग से इसे सत्ता से बेदखल कर दिया ।हालांकि कांग्रेस और राजग की प्रमुख पार्टी भाजपा को लोक सभा में मिली सीटों की संख्या में कोई बहुत बड़ा अन्तर नहीं था लेकिन बहुमत का जुगाड़ करने में भाजपा असफल रही।
तो आप यंहा समझ गए होंगे कि देश भर के स्थानीय और अन्य राष्ट्रीय पार्टियों के गठबंधन करने के बाद NDA का गठन हुआ ।


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages