गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले और पलायन के पीछे कांग्रेस के विधायक अल्पेश ठाकोर का नाम सामने आया है। - तहक़ीकात समाचार

ब्रेकिंग न्यूज़

Post Top Ad

Responsive Ads Here

मंगलवार, 9 अक्तूबर 2018

गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले और पलायन के पीछे कांग्रेस के विधायक अल्पेश ठाकोर का नाम सामने आया है।


रिपोर्ट _मनीष कुमार मिश्रा 

गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले और पलायन के पीछे कांग्रेस के विधायक अल्पेश ठाकोर का नाम सामने आया है। उत्तर भारत खासतौर से यूपी और बिहार से आए 'बाहरियों' के खिलाफ विरोध की शुरुआत अल्पेश ने ही की थी। खास बात यह है कि वह कांग्रेस पार्टी के बिहार प्रभारी भी हैं। हालात नियंत्रण से बाहर होने के कारण अल्पेश की रणनीति बैकफायर कर गई और अब उनकी पार्टी को शर्मिंदगी झेलनी पड़ रही है। ऐसे में उनकी पार्टी ही नहीं, दोस्तों- पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी को भी कहना पड़ा कि अगर हिंसा के पीछे अल्पेश का हाथ है तो उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

दरअसल, धमकी देने का आरोप जिस क्षत्रिय ठाकोर सेना के सदस्यों पर लग रहा है, अल्पेश उसके चीफ हैं। गांधीनगर में सोमवार को पुलिस ने कांग्रेस के नेता महोत ठाकोर को गिरफ्तार कर लिया, जो ठाकोर सेना के भी सदस्य हैं। महोत और चार अन्य लोगों को धमकी भरा एक विडियो वायरल होने के बाद गिरफ्तार किया गया है, जिसमें वे यूपी, बिहार के लोगों को गांव छोड़ने की धमकी देते दिखाई देते हैं।
पढ़ें, गुजरात: मोदी और शाह ने CM को लगाई फटकार
ठाकोर सेना के नेता की गिरफ्तारी से कांग्रेस को तो झटका लगा ही है, अल्पेश ने भी व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए इस पर टिप्पणी से इनकार कर दिया। आपको बता दें कि करीब एक हफ्ते पहले अल्पेश ने सार्वजनिक रूप से नफरत फैलाने वाला बयान देते हुए कहा था, 'प्रवासियों के कारण अपराध बढ़ गया है। उनके कारण, मेरे गुजरातियों को रोजगार नहीं मिल रहा है। क्या गुजरात ऐसे लोगों के लिए है?'

अब अल्पेश बैकफुट पर आ गए हैं। उनकी छवि अपनी पार्टी में भी बिगड़ी है। चुनावों से पहले कांग्रेस पार्टी अपनी छवि को खराब नहीं करना चाहती है। ऐसे में एक तरफ सोशल मीडिया पर उनके भड़काऊ बयान भले ही वायरल हो रहे हों पर अब अल्पेश ठाकोर को शांति की अपील करने वाला विडियो भी जारी करना पड़ा है। गुजरात में कानून-व्यवस्था को लेकर कांग्रेस पार्टी बीजेपी पर हमलावर है। अब उसे भी कहना पड़ा है कि अगर हिंसा के लिए ठाकोर दोषी हैं तो उन्हें गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया।
पढ़ें, गुजरात: उ. भारतीयों की वापसी से इंडस्ट्री पर मार

वडगाम से विधायक जिग्नेश मेवाणी ने कहा है कि किसी को भी यह अधिकार नहीं है कि वह दूसरे को राज्य से बाहर चले जाने को कहा। उन्होंने साफ कहा, 'अगर वह अल्पेश हों या कोई और, किसी को भी यह अधिकार नहीं है कि वह गरीब लोगों को उनकी जाति, धर्म, राज्य आदि के कारण जाने के लिए मजबूर करे।'
गुजरात कांग्रेस के प्रमुख अमित चावडा से जब हिंसा में ठाकोर की भूमिका के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बीजेपी सरकार पर हालात को नियंत्रित न कर पाने का आरोप लगाया। उन्होंने आगे कहा, 'अगर उनके पास साक्ष्य हैं तो वे हमारे किसी भी नेता या वर्करों के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं।'

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

tahkikatsamachar

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages